गुरुवार, 25 सितंबर 2014

हमारी नंदाई

इसे प्रकाशित किया Aatmabal ने तारीख और समय 3:10 am कोई टिप्पणी नही

 

पिछले कई सालों से डॉ. श्रीमति नंदा अनिरुद्ध जोशी ’आत्मबल विकास’ नामक महिलाओं का आत्मविश्वास तथा आतंरिक शक्ति बढ़ानेवाला उपक्रम सफलतापूर्वक चलाती आ रही हैं। उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से बायोकेमिस्ट्री में पोस्ट ग्रेजुएशन (पीजी) डिग्री हासिल की है और आयुर्वेद एवं प्राकृतिकोपचार (नैचुरोपैथी) में भी वे निपुण हैं। उन्होंने ब्रेल भाषा में भी प्रवीणता हासिल की है तथा उन्होंने स्वयं ३ साल ब्रेल भाषा का प्रशिक्षण दिया है।

उन्हीं के मार्गदर्शन अनुसार चलाए जानेवाले आत्मबल क्लास (वर्ग) महिलाओं की आंतरिक शक्ति तथा आत्मविश्वास का विकास इन दोनों गुणों को दृढ करते हैं और इससे महिलाओं को निडर, स्वावलम्बी तथा आत्मनिर्भर बनाने में सहायता से उन्हें अपनी खुदकी नई पहचान कराती हैं।

जिन महिलाओं को अंग्रेजी का थोडासा भी ज्ञान नहीं होता वे भी अपने रोजमर्रा के जीवन में अपने व्यवहार अच्छी तरह से कर पाएं इतनी अंग्रेजी डॉ. श्रीमति नंदा अनिरुद्ध जोशी स्वयं उन्हें सिखाती हैं। इससे उन महिलाओं को अंग्रेजी में बातचीत करने का आत्मविश्वास प्राप्त होता है और उन में से कुछ महिलाएं हज़ारों की संख्या में उपस्थित श्रोताओं के समक्ष अंग्रेजी नाटक भी पेश करती हैं।

आज के दौर में अंग्रेजी केवल सीखने की भाषा नहीं रही बल्कि अब यह आम लोगों की एकदूसरे से वार्तालाप की भाषा बन चुकी है। इसलिए अंग्रेजी का कामचलाऊ ज्ञान तो सभी के लिए आवश्यक है ही, परन्तु एक तरफ प्रवाही अंग्रेजी में बोल न सकने की वजह से हीनभावना और दूसरी तरफ शब्दकोष में मुश्किल शब्दों के अर्थ ढूंढने की बोरियतवाले कामों जैसे कई बातों की जरुरत होते हुए भी अंग्रेजी में बातचीत करना तथा प्राप्त ज्ञान का वर्धन करने से हम दूरी बनाए रखते हैं।

कई सालों के आत्मबल क्लास के संचालन के अनुभव से ही इन सभी दिक्कतों पर मात करनेवाली एक बहुत ही सुन्दर संकल्पना डॉ. श्रीमति नंदा अनिरुद्ध जोशी को सूझी और अथक प्रयास एवं मेहनत से उन्होंने इस संकल्पना को किताब के रूप में साकार किया।

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें